झारखंड झोपड़ी में गुजर बसर करने वाला बुजुर्ग रातोंरात बना करोड़पति खाते में अचानक आए 75 करोड़

किसमत कब बदल जाए किसी को नहीं पता होता किस्मत में जो लिखा होता है वह मिलकर ही रहता है ऐसा सभी कहते हैं और यह बात सही है कि किस्मत का लिखा कोई टाल नहीं सकता किस्मत में एक बुजुर्ग के करोड़ों रुपए लिखे थे जो अचानक से ही उसके खाते में आ गए. पल भर में वह गरीब से करोड़पति बन गया आज हम आपसे ऐसे ही एक बुजुर्ग के विषय में चर्चा करेंगे जिसकी रातों-रात किस्मत ही बदल गई

 

आपको बता दें झारखंड में झोपड़ी में रहने वाले एक बुजुर्ग रातों रात करोड़पति बन गए.अचानक उस बुजुर्ग के खाते में ₹75 करोड़ की राशि आ गई. इस घटना से बुजुर्ग तो हैरान है वहीं बाकी के उसके परिवार और लोग भी इस घटना के कारण काफी हैरान हैं. आइए तो आपसे इस विषय पर चर्चा करते हैं कि किस तरह इस बुजुर्ग के खाते में 75 करोड़ की बड़ी राशि अचानक से आ गई.

खबरों के अनुसार धनबाद जिले के जरमुंडी प्रखंड के रायकिनारी ग्राम पंचायत के छोटे से गांव में रूपसागर में टूटी-फूटी झोपड़ी में रहने वाला गरीब फुलो राय रातों रात करोड़पति बन गया है. वयोवृद्ध फुलो राय पिता स्व. डोमन राय का सैंट्रल बैंक के रायकिनारी शाखा में बचत खाता है.लेकिन लेनदेन तथा संचालन के आभाव में उसका यह खाता अभी बंद है.

पेंशन के संबंध में खाता की जानकारी लेने जब फुलो राय सोमवार को बेलदाहा गांव के सैंट्रल बैंक का ग्रामीण सेवा केंद्र (सीएसपी) पहुंचा. तो सीएसपी संचालक ने फुलो राय के आग्रह पर 10 हजार रुपये की निकालने की प्रकृया की रुपए निकलने के पश्चात जब बैंक खाते में जमा अवशेष राशि देखी गई तो उसमें 75 करोड़ से अधिक की राशि जमा दिखी.

यह देखकर संचालक के साथ-साथ फूलो राय के भी होश उड़ गए हैरान रह गए.फूलो राय को उसके खाते में करोड़ों रूपये जमा होने की जानकारी मिली.फुलो राय के खाते में अभी उसकी जमा राशि 75 करोड़ 28 लाख 68 हजार 870 रुपये है.टूटी-फूटी झोपड़ी में बूढ़ी पत्नी और एक दिव्यांग पुत्र के चार बच्चों के परिवार के साथ तंगहाली और मुफलिसी की जिंदगी जी रहे फुलो राय का परिवार इस आकस्मिक धनराशि से डरा हुआ है.उसे अभी तक विश्वास नहीं है कि उसके अकाउंट नंबर पर किसी ने इतनी बड़ी राशि भेजी है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!