मां ने बेटे के लिए बनाया उसका पसंदीदा चिप्स मगर बेटा एक बार सोया तो फिर उठा ही नहीं !

जैसा की हम सभी जानते है मां अपने बच्चों से जितना प्यार करती हैउतना प्यार शायद ही इस दुनिया में किसी से करता हो।माँ ने बताया ‘मैंने अपने वीर के लिए चिप्स बनाए हैं। इसको बोलो उठे और खा ले। वीर को चिप्स बहुत पसंद हैं।’ इतना कहते ही वीर की मां स्वर्णा देवी बेहोश हो गई थी। रिश्तेदारों ने चेहरे पर पानी फेंका तो बेसुध हालत में बेबस मां फिर वही बात दोहराने लगी, मेरे बच्चे मैंने तेरे लिए चिप्स बनाकर रखे है। अपने बच्चों को आंखों के सामने खोना माता पिता के लिए सबसे बड़ी की बात होती हैं।

राजौरी में गुरुवार रात आतंकियों ने बीजेपी नेता जसबीर सिंह के घर पर ग्रेनेड से हमला किया । इस हमले में जसबीर और उसके परिवार के 4 सदस्य गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। यह सबसे दुखी होने वाली बकी आतंकी हमले में 2 साल के छोटे बच्चे वीर सिंह की जान चली गई है। वीर जसबीर का भतीजा था। अस्पताल में भर्ती जसबीर को अभी पता नहीं है कि वीर अब दुनिया में नहीं है। वीर की मां के होश उड़ गए हैं और वह बोलने की स्थिति में नहीं है।

भास्कर जब जसबीर के घर पहुंचा तो परिवार के लोग नन्हे वीर के शव के पास बैठे थे। हर तरफ उनके गम और गम का साया था। मौसी चिल्ला रही थी और सभी से पूछ रही थी कि उसकी प्रेयसी का क्या दोष है। सब कह रहे थे- वीर को भूख लगी थी, मां उनकी पसंद के आलू के चिप्स बनाने गई थी। इससे पहले कि वह अपने बेटे को उठा पाती और खिला पाती , उस पर हमला किया गया। सो रही थी हमारी प्यारी, सोती रही.. अब हमेशा के लिए सो गई।

मौसी ने रोते हुए कहा, ‘मेरे भाई को, मेरे परिवार को न्याय। अगर ये देशद्रोही आदमी होते तो आगे से वार क्यों करते, पीठ पीछे खंजर? इन लोगों ने मेरे परिवार को तबाह कर दिया। बच्चे को छलनी कर दिया गया, यहां उसकी मौत हो गई। मेरे बच्चे से क्या दुश्मनी थी? भगवान न्याय करेगा, हमने अपना बच्चा खो दिया है।

जसबीर के भाई बलबीर सिंह का कहना है कि सुरक्षा बढ़ाई जाए। इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि हमले के वक्त कितनी सुरक्षा थी ।

उधर, घायल जसबीर ने बताया कि इस हमले में एक स्थानीय का ही हाथ है । जिस दुकान से आतंकी ग्रेनेड पहुंचे थे, उसकी भी जांच होनी चाहिए। मैंने लोगों की भलाई के लिए काम किया है और मेरा शक उन लोगों पर है जो मेरे काम से जलते थे।

ग्रेनेड ह-मले में पांच लोग गंभीर रूप से घायल

पुलिस के मुताबिक आतंकियों ने उस वक्त हमला किया जब जसबीर सिंह अपने परिवार के साथ बैठे थे। हमले में जसबीर के अलावा अर्जुन सिंह, जसबीर की मां सिया देवी, भाई बलबीर और उनके बेटे करण सिंह घायल हो गए। 2 साल के छोटे बच्चे वीर सिंह को नहीं बचा पाये।

खंडली इलाके में बीजेपी के मंडल अध्यक्ष जसबीर सिंह के घर पर हुए हमले के बाद इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है । इससे पहले गुरुवार के दिन आतंकियों ने कुलगाम में बीएसएफ के काफिले पर भी हमला किया।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!