कपल ने 700 साल पुरानी तकनीकी से खुद ही बनाया अपना ‘मिट्टी का घर’, बेहतरीन है Idea

कपल ने 700 साल पुरानी तकनीकी से खुद ही बनाया अपना ‘मिट्टी का घर’, बेहतरीन है Idea

सबका अपने घर की ख्वाहिश होती है. हालांकि, बहुत से लोगों का ये सपना पूरा होता है तो बहुतों का नहीं भी होता है. लेकिन, कुछ हैं जो अपने सपने को पूरा करने के लिए कुछ न कुछ नया करते रहते हैं.

महाराष्ट्र के पुणे के रहने वाला एक कपल ने अपने हाथों से ही अपना घर तैयार कर लिया है. युगा आखरे और सागर शिंदे ने वाघेश्वर गांव में फार्महाउस बनाने का प्लान किया. उन्होंने तय किया कि वे अपना घर बांस और मिट्टी से बनाएंगे.

 

लेकिन, यहां उनके लिए मुसीबत ये आई कि उस एरिया में भारी बारिश होती है. ऐसे में वहां मिट्टी का घर किस तरह ठहरेगा ये मुसीबत है. ऐसे में युगा और सागर ने कुछ नया करने का निर्णय लिया और उन्होंने पुराने तरीके से घर बनाने की योजना बनाई.

रिपोर्ट के मुताबिक, मिट्टी महल बनाने की योजना के साथ दोनों सामने आए. उन्होंने लोकल मेटेरियल और कुछ रिसाइकल चीजों का उपयोग किए. इसमें बांस, लाल मिट्टी और घास का इस्तेमाल किया गया. मिट्टी को बिल्कुल अलग तरीके से तैयार किया गया.

 

मिट्टी में भूसी, गुड़ मिलाया गया. नीम की पत्ती, गाय का मूत्र और गोबर भी इसमें मिलाया गया. इसके बाद मिट्टी को इंटे के जरिए जोड़ा गया और बांस से इसे ढाल दिया गया.

कपल ने 700 साल पुरानी तकनीक का इस्तेमाल करके घर का निर्माण किया. घर की दीवालें इस तरह बनाई गई हैं कि गर्मियों में ये ठंडी और ठंडी में ये गर्म रहती है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!