इंजिनियरिंग छोड़ चाय बेचकर करोड़ में कमाई करने वाले दो दोस्तों की कहानी

इंजिनियरिंग छोड़ चाय बेचकर करोड़ में कमाई करने वाले दो दोस्तों की कहानी

आज के समय में एक तरफ़ जहाँ युवाओं में डिग्री पूरी कर अच्छी-सी कंपनी में ऊंचे पैकेज पर नौकरी पाने की होड़ लगी है वहीं दूसरी तरफ़ कई ऐसे युवा हैं जो अपनी अच्छी-खासी जॉब छोड़ कर स्वयं का रोजगार शुरू करना पसंद करते हैं। इस कहानी के माध्यम से हम आपका परिचय ऐसे हीं दो दोस्तों से कराने जा रहे जिन्होंने अपनी बहुराष्ट्रीय कंपनी की नौकरी छोड़कर चाय बेचने का काम शुरू किया और आज करोड़ में कमाई कर रहे हैं।

अभिनव टंडन और प्रमित शर्मा उत्तर-प्रदेश के रहने वाले हैं जिन्होंने चाय से रोजगार का एक अनूठा आइडिया निकाला और “चाय कॉलिंग” नामक रिटेल स्टोर की शुरुआत कर काफ़ी कमाई कर रहें।

पेशे से इलेक्ट्रिकल इंजिनियर अभिनव और सॉफ्टवेयर इंजिनियर प्रमित बहुराष्ट्रीय कंपनी में ऊंचे पैकेज पर काम कर रहे थें लेकिन उनके अंदर स्वयं का व्यवसाय करने की बात पढाई के दौरान “व्यवसाय पत्रिका” पढने से चलने लगी थी। पूंजी की कमी होने के कारण इन्होंने ऐसे स्टार्टअप की सोंची जिसमें कम पूंजी में अच्छी कमाई हो सके और कुछ लोगों को भी रोजगार दी जा सके।

अभिनव कहते हैं कि पढाई और नौकरी के दौरान उन्हें बाहर स्टॉल्स पर चाय पीनी पड़ती थी जिसकी क्वालिटी बहुत खराब होती थी। उनके दिमाग़ में आया क्यों ना ‘चाय स्टॉल‘ को स्टार्ट अप बनाया जाए और लोगों को बेहतरीन क्वालिटी की चाय पिलायी जाए।

इसके लिए उन्होंने सबसे पहले अपनी नौकरी छोङी और फिर अपने सेविंग्स से नोएडा सेक्टर 16 मेट्रो स्टेशन के पास अपनी पहली चाय की स्टॉल ‘चाय कॉलिंग‘ लगायी। अपने बेहतरीन गुणवत्ता की वज़ह से काफ़ी कम समय में हजारों लोगों को अपना मूरीद बनाने वाली ‘चाय कॉलिंग‘ की आज 10 से ज़्यादा स्टॉल्स लग चुकी हैं और भविष्य में दूसरें शहरों में भी विस्तृत करने की योजना है।

इनके स्टाल्स पर 5 रूपये से लेकर 25 रूपये तक की 15 प्रकार की चाय मिलती है। अभिनव और प्रमित ने महज़ 15 मिनट में चाय की होम डिलीवरी के लिए ‘चाय ब्रिगेड’ कांसेप्ट को भी शुरु किया है। इनका टर्न ओवर आज करोङों में पँहुच चुका है।

ये चाहते तो उस बहुराष्ट्रीय कंपनी में अपनी अच्छी-सी तनख्वाह वाली नौकरी कर मौज-मस्ती में अपना जीवन जी सकते थें लेकिन इन्होंने किसी और के यहाँ नौकरी करने के बजाय ख़ुद का स्टार्ट अप शुरू किया और अपने यहाँ कई लोगों को रोजगार दिया। इनकी ‘चाय कॉलिंग’ आज एक सफल स्टार्ट अप के रूप में पहचान बना चुकी है और इन्होंने ये साबित किया है कि कम पूंजी में भी व्यवसाय किया जा सकता है बशर्ते कि उसे लगन से की जाए।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!