सूट पहनकर चाट-गोलगप्पे की रेहड़ी लगाता है 22 साल का लड़का, खुद्दारी की कहानी ने जीता दिल

हम भारतीयों का दिन स्ट्रीट फ़ूड खाए बिना पूरा नहीं होता. डायटिंग करने की कोशिश करो फिर भी शाम तक समोसे, गोलगप्पे या चाट खाने का मन हो ही जाता है. चाट-पानीपुरी बेचने वालों की एक ख़ास छवि हमारे दिमाग़ में छपी हुई है. अगर कोई सूट पहनकर पानीपुरी बेचता हुआ नज़र आ जाए तो सबसे पहले दिमाग़ में आएगा कि ये पक्का कोई 5 स्टार होटल वाला होगा.

सूट पहनकर सड़क किनारे चाट, पानीपुरी, दही-भल्ले, पापड़ी बेचते दो भाइयों का वीडियो सामने आया है. दोनों भाई सूट पहनकर चाट-गोलगप्पे बनाते हैं और परोसते हैं. फ़ूड ब्लॉगर हैरी उप्पल ने दोनों भाइयों की कहानी शेयर की और अब ये सोशल मीडिया पर छा गई है.

होटल मैनेजमेंट ग्रैजुएट बेचता है चाट

22 साल का होटल मैनेजमेंट ग्रैजुएट, चंडीगढ़ के पास मोहाली में चाट और गोलगप्पे बेचता है. इनकी दुकान पर आलु टिक्की से लेकर दही भल्ले तक सबकुछ मिलता है. अगर कोई ग्रैजुएट वो भी होटल मैनेजमेंट ग्रैजुएट चाट की रेड़ी लगा ले तो घरवालों से सुनना ही पड़ता है. इस शख़्स के साथ भी यही हुआ लेकिन उसने अपना पैशन नहीं छोड़ा.

देसी घी में आलु टिक्की

सुबह 6 बजे उठकर, रात के 12-1 बजे तक मेहनत करते हैं दोनों भाई. उन्होंने बताया कि वो हर चीज़ फ़्रेश बनाते हैं. चाट वगैरह के मसाले भी घर पर तैयार करते हैं और पापड़ी भी. आलु टिक्की बनाने के लिए लखनऊ से ख़ासतौर पर तांबे का तवा मंगाया गया और यहां देसी घी में आलु टिक्की मिलती है. 2 टिक्की की क़ीमत है 60 रुपये. इस एक बात से ही अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि दोनों भाई भले ही अपना बिज़नेस बनाना चाहते हैं लेकिन लोगों को खिलाकर ख़ुश करना भी उनका मकसद है. बात-चीत के दौरान रेड़ी लगाने वाले शख़्स ने ये भी बताया कि उनका बेकरी का बिज़नेस करने का इरादा था लेकिन लोगों को पसंद आई तो उन्होंने टिक्की की रेड़ी लगा ली.

कोविड की वजह से दोनों भाइयों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. पैंडमिक में दोनों ने चाय बेची लेकिन उम्मीद नहीं छोड़ी और आज इनके पास 3-4 लोगों की टीम है.

आई लव पंजाब नाम की दुकान खोल रहे हैं

रेड़ी डालकर, तीन साल तक मेहनत कर इन दोनों भाइयों की मेहनत रंग लाई. बात-चीत के दौरान उन्होंने बताया कि उन्होंने अपनी शॉप ले ली है. खाने-पीने की चीज़ों के अलावा इस रेड़ी पर मॉकटेल्स भी मिलती है. हंसते हुए इस शख़्स ने कहा कि दुकान की ओपनिंग पर वो अपने परिवार को बुलाएंगे.

अगर आप मोहाली जाएं तो इन दो भाइयों की रेड़ी पर ज़रूर जाएं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!