ओडिशा के बिभू का कमाल! चावल की बेकार भूसी को बना दिया ‘काला सोना’, अब लाखों में है कमाई

ओड़िशा का एक युवा चावल की बेकार भूसी को ‘काला सोना’ बनाकर लाखों की कमाई कर रहा है. यह काहानी उड़ीसा के कालाहांडी में रहने वाले 40 वर्षीय बिभु साहू की है.

बिभू पिछले कई सालों से चावल मिल का व्यवसाय कर रहे हैं. 2007 में टीचर की नौकरी छोड़ने के बाद इस युवा ने अपना बिजनेस शुरू किया और 2014 में एक चावल मिल शुरू कर दी.

इस दौरान बिभू ने देखा कि उनकी चावल मिल में काफी मात्रा में भूसी बनता है, जिसे जलाना पर्यावरण के लिए हानिकारक था. कम जगह होने के कारण वो उसे अपने पास भी नहीं रख सकते हैं.

ऐसे में वो कुछ भी करके इस समस्या का हल चाहते थे. इसी क्रम में जानकारी होने पर उन्होंने स्टील कंपनियों को भूसी निर्यात करना शुरू कर दिया. जिससे वह लाखों की कमाई करने में सफल रहे.

दरअसल, स्टील कंपनियां चावल की भूसी का यूज एक थर्मल इन्सुलेटर के रूप में किया जा सकता है. इसलिए वो इसे खरीदना पसंद करती हैं. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक बिभू चावल की बेकार भूसी को विदेशों तक पहुंचा रहे हैं.

मिस्र, यूक्रेन और ताइवान जैसे कई देशों में उनका माल जाता है. बिभू को इस व्यापार में सालाना 20 लाख रूपए से अधिक की कमाई हो रही है. बिभू के लिए चावल की बेकार भूसी एक तरह का ‘काला सोना’ है, जिसने उनकी जिंदगी को बदलकर रख दिया है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok mantra से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!