इंजीनियर बनना चाहते थे लेकिन सपना पूरा नहीं हुआ, अब ‘फ़रारी वाले दूधवाले’ नाम से फ़ेमस हो गए

इन दिनों गोरखपुर का बस्ती जिला सोशल मीडिया पर छाया हुआ है और उसकी ख़ास वजह है बस्ती जिले के कप्तानगंज थाना के रौताइनपुर गांव के रहने वाले शिवपूजन. दरअसल शिव पूजन का जुगाड़ू देसी फरारी कार बनाने का वीडियो ट्वीटर पर खूब वायरल हो रहा है.

इतना ही नहीं अब यह वीडियो महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा के पास भी पहुंच गया है और इस दिग्गज हस्ती ने शिवपूजन से मिलने की इच्छा जताते हुए ट्वीट किया है.

सपना था इंजीनियर बनने का

देसी इंजीनियर शिवपूजन बचपन से ही इंजीनियर बनना चाहते थे लेकिन आर्थिक तंगी की वजह से वह अपना सपना पूरा नहीं कर पाए. फिर उन्होंने गुजारा करने के लिए सबसे पहले रंगाई-पुताई का काम सीखा और जब दिलचस्पी और बढ़ी तो उन्होंने पेंटिंग करनी शुरू कर दी.

दीवारों पर पेंटिंग और राइटिंग करने लगे लेकिन इससे गुजारा नहीं हो सका. इसलिए 5 साल पहले उन्होंने वेल्डिंग का काम सीखा और गेट, ग्रिल जैसे सामान बनाने लगे. इस दौरान शिवपूजन के मन में जुगाड़ू फरारी कार बनाने का विचार आया और उन्होंने अपने आइडिया पर काम करना शुरू कर दिया.

देसी फरारी बनाने में भाइयों ने मदद की

जब शिवपूजन ने अपने परिवार वालों को अपना जुगाड़ू आइडिया बताया तो उनके भाइयों ने उनकी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया. भाइयों ने मिलकर करीब 1 लाख रुपये का इंतजाम कर दिया.

परिवार की तरह से मिले सपोर्ट को देखकर शिव पूजन के मन में उत्साह जागृत हुआ और उन्होंने महज 3 महीने में देसी फरारी बनाकर खड़ी कर दी. वहीं गांवों की तारीफ सुनकर अब शिवपूजन अपनी कार को और भी तरह से बेहतर बनाने की कोशिश में जुट गए हैं. बेहतर मॉडल बनाने के चक्कर में उनका करीब सवा लाख रुपया खर्च हो चुका है.

डेयरी बिजनेस के लिए बनाई देसी फरारी

दरअसल शिवपूजन ने अपने बिजनेस के लिए इस जुगाड़ू कार को बनाया था क्योंकि बाइक के जरिए वह दूध के कनस्तर नहीं ले जा पाते थे. उनकी बस्ती के पास मालवीय रोड पर डेयरी है. शिवपूजन रोजाना अपने गांव से फरारी की मदद से दूध के कनस्तरों को शहर लेकर जाते हैं. एक दिन किसी ने उनकी तीन पहिया फरारी को देखा तो वीडियो बना लिया और वीडियो को ट्वीटर पर शेयर कर दिया. वीडियो देखते ही देखते वायरल हो गया.

देसी फरारी में गजब के हैं फीचर्स

देसी फरारी के बारे में शिवपूजन बताते हैं कि उनकी कार 55 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से सड़क पर दौड़ती है. उनकी कार में 4 बैटरी लगी हैं, जो 48 वोल्ट का करंट और 1 किलो वाट का पावर पैदा करती हैं. शिवपूजन बताते हैं कि गाड़ी को एक बार चार्ज करने के बाद आप 80 किलोमीटर तक नॉनस्टॉप दौड़ा सकते हैं.

आनंद महिंद्रा से मिलने के लिए उत्साहित हैं

वहीं शिवपूजन का जुगाड़ू फरारी कार का वीडियो वायरल होने के बाद, उनका कहना है कि जिसने भी उनकी मेहनत को समाज के सामने लाया है उसके लिए वह आभारी रहेंगे. अब तो राह चलते लोग शिवपूजन की कार के साथ सेल्फी भी लेते हैं और शिवपूजन को बस्ती स्थापना दिवस पर विशेष आमंत्रण भी मिला है. वहीं अब शिवपूजन आनंद महिंद्रा से मिलने के लिए काफी आतुर हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!