जानिए क्यों की जाती है सर्वप्रथम विघ्नहर्ता श्री गणेश की पूजा

भगवान गणेश मानव में ही नहीं देवत्व में भी पूज्य हैं, इनको ज्ञान बुद्धि का देवता मना गया हैं , इन्हें विघ्नहर्ता भी कलहा जाता है, अगर बिना इनके कोई पूजा कराये जाये तो वो पूजा सफल नहीं मणि जाती है, इसलिए पूजा आप कोई भी क्यों न कराये लेकिन उसमे भगवन गणेश की पूजा सर्वप्रथम कराये जाती है , ये रिद्धि सीधी ,धन ,सन्ति, समृद्धि, सुख,ज्ञान और बुद्धि के सागर है , लेकिन क्या आप जानते है की आखिर क्या कारन है की गणेश भगवान की पूजा सबसे पहले की जाती है ,

देवत्व के बिच एक प्रतियोगिता हुई थी जिनमे वो और कार्तिक भगवान ने रेस लगाने की प्रतियोगिता में भाग लिया था दरअसल कार्तिक भगवान सिद्ध करना चाहते थे की मई ज़ादा फुर्तीला और तेज़ हु क्यों की उनका वहां मोर और गणेश जी का वहां चूहा था दोनों के बिच रेस लगी , उसमे कहा गया की जो ब्रह्माण्ड के सबसे पहले 5 चकर लगा के वापस कैलाश पर जल्दी पहुंचे गए वही विजेता होगा , फिर क्या भगवान कार्तिके अपने मोर को ले कर के उड़ गए लेकिन भगवान गणेश ने वही बैठे अपने माता पिता यानि भगवान शिव और महासक्ति पारवती माता के 5 चाकर लगा दिए,

ऐसा कर के ना सिर्फ उन्होंने प्रतियोगिता में विजय हासिल की बल्कि देवत्व में अपनी बुद्धू सूघ बुघ का परिचय भी दिया , तब से आज तक उनकी पूजा सर्वप्रथम की जाती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!