ऑस्ट्रेलिया से लौटकर पराली प्रबंधन का काम शुरू किया, कमाए 95 लाख रुपये

ऑस्ट्रेलिया से लौटकर पराली प्रबंधन का काम शुरू किया, कमाए 95 लाख रुपये

ऐसे समय में जब सरकार हरियाणा की एयर क्वालिटी में सुधार करने के लिए संघर्ष कर रही है, तब 32 वर्षीय एक छोटे से किसान ने यह साबित कर दिया है कि वैज्ञानिक तरीके से पराली का मैनेजमेंट असरदार साबित हो सकता है. वह इस काम से एक अच्छीखासी रकम भी कमा चुके हैं.

कैथल जिले के फ़राज़ माजरा गाँव के वीरेंद्र यादव ने अपने गाँव और आस-पास के स्थानों पर पराली प्रबंधन से 95 लाख रुपये कमाए हैं. TOI की रिपोर्ट के अनुसार, यादव के पास एक एकड़ का खेत है. वह ऑस्ट्रेलिया में रहकर वहां थोक सब्जी का कारोबार करते थे, लेकिन वह 2018 में अपनी बीमार माँ की देखभाल करने के लिए वापस आये.

जब यादव ने अपनी माँ और बेटियों को गाँव में स्मॉग की वजह से साँस लेने के लिए संघर्ष करते देखा और उनकी बेटी को एलर्जी भी हो गयी, तो उसने इसके बारे में कुछ करने का फैसला किया. वीरेंद्र ने कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ इस मुद्दे को उठाया. उन्होंने कहा “मेरे पिता पशुपालन विभाग में थे और उन्होंने मेरा मार्गदर्शन किया. हमारे पास केवल एक एकड़ जमीन थी और यह गुज़र-बसर के लिए पर्याप्त नहीं थी. उनकी सलाह पर अमल करते हुए, मैंने चार balers खरीदने का फैसला किया और बाद में कृषि विभाग द्वारा प्रदान की गई सब्सिडी के साथ दो और खरीदे.”

इस काम से होने वाली कमाई के बारे में यादव ने कहा, “मैं ऑस्ट्रेलिया में लगभग 35 लाख रुपये कमाता था. अब, दो महीने में मैंने 95 लाख रुपये का व्यवसाय किया है, जिसमें से किसानों और मेरे पास 150 लेबर को पेमेंट के बाद मैं 50 लाख रुपये बचाऊंगा.”

बताते चलें, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट पूरा करने के बाद, वीरेंद्र 2008 में ऑस्ट्रेलिया चले गए थे.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!