आंध्र प्रदेश की जाह्नवी ने रचा इतिहास, NASA JPL में ट्रेनिंग करने वाली पहली भारतीय छात्रा बनी

आंध्र प्रदेश, भारत की 19 वर्षीय जाह्नवी ने इतिहास रच दिया है. जाह्नवी पहली भारतीय छात्रा हैं जिन्होंने अमेरिका स्थित नासा लॉन्च ऑपरेशन्स केनेडी स्पेस सेंटर में इंटरनेशनल एयर ऐंड स्पेस प्रोग्राम को पूरा किया.

जाह्नवी ने बताया कि प्रोग्राम के लिए उन्हें एक मेक्सिकन कंपनी से स्कॉलरशिप मिली थी जिसकी बदौलत वो प्रोग्राम का हिस्सा बन पाईं.

टीम केनेडी की मिशन डायरेक्टर बनी जाह्नवी

आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी ज़िले के Palakollu की जाह्नवी सेकेंड इयर इंजीनियरिंग की छात्रा है. IASP के लिए जाह्नवी समेत दुनिया के 20 युवाओं को चुना गया था. जाह्नवी को टीम केनेडी का मिशन डायरेक्टर बनाया गया. उन्होंने अलग-अलग देशों के 16 लोगों के ग्रुप को लीड किया. इस टीम ने एक मिनिएचर रॉकेट को लॉन्च और सफ़लतापूर्वक लैंड करवाया.

एयरक्राफ़्ट उड़ाने का मिला मौक़ा

ये एक एस्ट्रोनॉट प्रोग्राम था जिसका आयोजन केनेडी स्पेस सेंटर में किया गया. इस प्रोग्राम में ज़ीरो ग्रैविटी , मल्टी एक्सेस ट्रेनिंग और अंडरवॉटर रॉकेट लॉन्च शामिल थे. इसके अलावा जाह्नवी को पहली बार एयरक्राफ़्ट उड़ाने का भी मौक़ा मिला.

इंडियन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज

जाह्नवी ने अपने बारे में कुछ बातें शेयर की. उन्होंने बताया कि वो मंगल ग्रह पर पहुंचने वाली पहली भारतीय बनना चाहती हैं. इंडियन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में जाह्नवी का नाम दर्ज है.

जाह्नवी के शब्दों में, ‘मैं अपने सपनों तक पहुंचने के लिए हर अवसर का इस्तेमाल करती हूं. इसके लिए मैं अलग-अलग प्रोजेक्ट्स, वर्कशॉप्स और हैकाथॉन्स में हिस्सा लेती हूं. हमारी टीम ने 16 Preliminary Discoveries और एक Provisional Discovery की.’

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!