मदुरै के इस छात्र ने बनाई ई-साईकिल, मात्र 1.50 रूपये में चलती है 50 किमी. का माइलेज

मदुरै के इस छात्र ने बनाई ई-साईकिल, मात्र 1.50 रूपये में चलती है 50 किमी. का माइलेज

भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हर रोज बढ़ोतरी देखी जा रही है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां हर रोज तेल के कीमतों में संशोधन करती रहती हैं और अपने नया रूप दिखाती रहती है। पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमत का असर आम लोगों के बजट पर सीधे तौर पर पड़ता है। यही वजह है कि हर कोई सीएनजी और इलेक्ट्रिक जैसे वैकल्पिक ईंधनों की तरफ अपना रुख मोड़ रहे हैं।

बिना पैडल मारे चला सकते है साइकिल

ऐसा कहा जाता है कि आवश्यकता हीं आविष्कार की जननी होती है। ईंधन के बिना यात्रा करने वाले लोगों के लिए तमिलनाडु का एक स्टूडेंट्स ने साइकिल को कुछ इस तरह से तैयार किया है, जिसमें बिना पैडल मारे इस पर आराम से सफर किया जा सकता है। अगर आप कुछ बड़ा करना चाहे तो उसके लिए ज्यादा पैसे की नहीं बल्कि बड़ी सोंच का होना आवश्यक है। आप सीमित संसाधनों में भी अपनी जरूरत को पूरा कर सकते है।

सूर्य की किरणों से चलने वाली इलेक्ट्रिक साइकिल

आज हम बात कर रहे है कम संसाधन में अपने इरादे को पूरा करने वाले मदुरै के एक स्टूडेंट्स की, जिसने सूर्य की किरणों से चलने वाली इलेक्ट्रिक साइकिल बनाई है, जिसे चलाने के लिए आपको चार्ज भी नहीं करना पड़ेगा बल्कि धूप के संपर्क में आने से यह साइकिल खुद ही चार्ज हो जाती है और फिर आप इसका उपयोग कर सकते है।

इलेक्ट्रिक साइकिल को चार्ज भी नहीं करना पड़ता

वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोलियम ईंधन की मांग Demand of Petroleum Fuels दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। यही वजह है कि कच्चे तेल का बाजार फिर से एक बार डिमांड पर है। मदुरै कॉलेज (Madurai College) के एक छात्र धनुष कुमार ने सौर उर्जा से चलने वाले इलेक्ट्रिक साइकिल को तैयार किया है, जिसमें बहुत कम खर्च में सफर किया जा सकता है। धनुष के बनाए इलेक्ट्रिक साइकिल को चार्ज नहीं करना पड़ता। इसे केवल धूप में रखने से यह खुद ही चार्ज हो जाती है।

यह सोलर साइकिल 24 वोल्ट और 26 एंपियर की बैटरी से बनाई है

इस इलेक्ट्रिक साइकिल के बाजार में आते हीं पेट्रोल के दामों से लोगों को बहुत राहत मिल सकती है और कम खर्चे पर लोग रोज के कामों के लिए आसानी से आ-जा सकते हैं। धनुष ने यह सोलर साइकिल 24 वोल्ट और 26 एंपियर की बैटरी से बनाई है। धनुष के अनुसार एक बार चार्ज होने पर यह साइकिल 50 किलोमीटर तक आसानी से चल सकती है। इस साइकिल में ही सोलर पैनल लगे हैं, जिसकी मदद से बैटरी चार्ज होती है। धनुष के अनुसार पेट्रोल की महंगाई के दौर में यह लोगों के आने-जाने के लिए अच्छा साधन बन सकता है।

चार्जिंग डाउन लाइन होने के बाद भी 20 किलोमीटर चलने में है सक्षम

धनुष द्वारा बनाए सोलर पॉवर्ड इलेक्ट्रिक साइकिल के पिछले भाग यानी कैरियर पर एक बैटरी लगाया गया है और फ्रंट में सोलर पैनल लगा हुआ है। इस सोलर पैनल की मदद से यह साइकिल लगातार 50 किलोमीटर तक का सफर तय कर पाती है। इसके अलावा चार्जिंग डाउन लाइन होने के बाद भी 20 किलोमीटर तक चल सकता है।

50 किमी चलने में केवल 1.50 रुपये का है खर्च

धनुष के अनुसार इस इलेक्ट्रिक साइकिल को चार्ज करने वाली खर्च की पेट्रोल की कीमत की तुलना में बहुत कम है। इसमें 50 किमी चलने में केवल 1.50 रुपये का खर्च आता है। यह इलेक्ट्रिक साइकिल 30-40KM की रफ्तार से सड़क पर दौड़ सकती है। इस ई-साइकिल में 12 वोल्ट की 4 बैटरी, एक 350 वाट का ब्रुश मोटर, रफ्तार को कम-ज्यादा करने के लिए एक्सीलेटर शामिल किए गए है।

सोशल मीडिया पर हो रही है धनुष कुमार की तारीफ

सोशल मीडिया पर मदुरै कॉलेज में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स धनुष कुमार की इस साइकिल की चारो ओर जमकर तारीफ हो रही है तथा लोग लगातार इस साइकिल पर अपनी प्रतिक्रिया शेयर कर रहे हैं। साइकिल में 24 वोल्ट और 26 एम्पीयर कैपेसिटी की बैटरी का प्रयोग किया गया है। इसमें 350 W का ब्रुश मोटर और स्पीड को कम ज्यादा करने के लिए हैंडलबार में एक्सीलेटर लगाया है। बैटरी को चार्ज करने का खर्च पेट्रोल की अपेक्षा कम होगा।

साइकिल की फीचर्स

इन दिनों सोशल मीडिया पर मदुरै कॉलेज में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स धनुष कुमार की इस साइकिल की जमकर तारीफ हो रही है। आपको बता दे कि साइकिल में 24 वोल्ट और 26 एम्पीयर कैपेसिटी की बैटरी का इस्तमाल किया गया है। साथ ही 350 W का ब्रुश मोटर और स्पीड को कम ज्यादा करने के लिए हैंडलबार में एक्सीलेटर लगाया गया है। इस साइकिल की टॉप स्पीड 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा है।

युवाओं की जरूरत के अनुसार बनाया गया है साइकिल

इलेक्ट्रिक साइकिल के फ्रंट में LED लाइट लगाई गई है, जिससे अंधेरे में भी राइडिंग करने में परेशानी नहीं होगी। बैटरी और सोलर पैनल को आज के युवाओं की जरूरत को देखते हुए दो अलग-अलग साइकिल में लगाया गया है। इस साइकिल को बनाने वाले धनुष कहते है कि यह साइकिल मदुरै जैसे शहरों के लिए बिल्कुल सही है। अबतक उन्होंने साइकिल की कीमत से जुड़ी कोई जानकारी नहीं दी है। सौर ऊर्जा से चलने वाले इस इलेक्ट्रिक साइकिल के कैरियर पर बैटरी लगाई है और इसके फ्रंट में सोलर पैनल लगाया गया है।

ई-साइकिल से होगा वातावरण को फायदा

बढ़ते पेट्रोल और डीजल की कीमत से लोग परेशान हैं, ऐसे में धनुष की बनाई ई-साइकिल लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। इससे लोगों का पैसा बचने के साथ-साथ प्रदूषण भी कम होगा। यह वातावरण के लेहाज से भी बेहतर होगा।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!