बिना अनुमति के 9 साल से छुट्टी पर है सरकारी स्कूल का ये प्रिंसिपल, फिर भी हर माह मिलता है वेतन

दुनिया के अधिकांश लोग अपने काम पर जाते हैं और उन्हें उनके काम के बदले महीने के आखिर में वेतन मिलता है. ये बात तो हम सब जानते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि किसी को बिना काम पर गए ही वेतन मिल रहा हो और वो भी कई सालों से? नहीं सुना है तो अलीगढ़ के इस प्रिंसिपल के बारे में जान लें.

9 साल से नहीं गए स्कूल

अलीगढ़ के एक सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल बीते 9 साल से स्कूल नहीं गए हैं और उनका स्कूल इतने सालों से बिना प्रिंसिपल के ही चल रहा है. इससे भी हैरान करने वाली बात ये है.

कि बिना किसी की अनुमति के पिछले 9 सालों से स्कूल न आने वाले इस प्रिंसिपल को सरकार से वेतन मिल रहा है. खबरों की मानें तो इस पूरे प्रकरण में बेसिक शिक्षा विभाग के शामिल होने की बात भी बताई जा रही है.

अलीगढ़ के पूर्व माध्यमिक विद्यालय कलियानपुर रानी वि० क्षे० अतरौली अलीगढ़ का ये मामला जिलाधिकारी अलीगढ़ इंद्र विक्रम सिंह के संज्ञान में आ चुका है. उन्होंने मीडिया से इस संबंध में कहा कि संबंधित प्रिंसिपल की संबद्धता को तत्काल समाप्त कर विद्यालय भेजा जा रहा है, प्रिंसिपल के विरुद्ध जांच कर कार्यवाही के निर्देश भी दिए गए हैं.

2014 में बने थे प्रिंसिपल

2007 से इस स्कूल में पढ़ा रहे के एक अध्यापक ने मीडिया से बताया कि, ‘प्रदीप कुमार को अप्रैल 2014 में सीनियोरिटी के आधार पर विद्यालय का प्रिंसिपल नियुक्त किया गया था. विद्यालय के प्रिंसिपल होने के बाद 13 अप्रैल 2014 से प्रदीप कुमार लगातार बिना किसी सूचना के अनुपस्थित रहे हैं.

जिसके संबंध में बीएसए ऑफिस में लगातार पत्राचार करके कार्रवाई हेतु सूचित भी किया गया, लेकिन विभाग द्वारा शिकायत पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया.

उन्होंने बताया कि प्रदीप कुमार बीते 9 सालों से अनुपस्थित रहने के बावजूद भी सैलरी उठा रहे हैं. प्रिंसिपल की अनुपस्थिति में स्कूल का माहौल खराब होने से बचाने के लिए वेदपाल ही बिना किसी ऑथेंटिक लेटर के स्कूल के कार्यभार संभाले हुए हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!