मिलिए 3 सगे भाई-बहनों की जोड़ी से जिन्होंने एक साथ पास किया UPSC की परीक्षा, कायम कर दिया मिसाल

मिलिए 3 सगे भाई-बहनों की जोड़ी से जिन्होंने एक साथ पास किया UPSC की परीक्षा, कायम कर दिया मिसाल

संघ लोक सेवा आयोग यानी कि यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2020 का रिजल्ट जारी कर दिया गया है जिसमें कई लोगों ने सफलता हासिल की। इसी के साथ उत्तरप्रदेश की दो सगी बहनों ने एक साथ इस परीक्षा में सफलता हासिल की। वहीं राजस्थान के दो सगे भाइयों और दो सगी बहनों ने भी एक साथ परीक्षा में सफलता हासिल की जिसके बाद से इनका परिवार सुर्खियों में चल रहा है। आइए जानते हैं इन परिवार की कहानी।

आपको सबसे पहले बताते हैं उत्तर प्रदेश के नीरज कुमार की बेटी सिमरन और सृष्टि के बारे में। सिमरन ने यूपीएससी 2020 में परीक्षा पास करते हुए 476 वीं रैंक हासिल की वहीं नीरज कुमार की दूसरी बेटी सृष्टि ने इसी साल यूपीएससी 2020 में 373 वी रैंक हासिल की।
बेटियों की सफलता पर पिता नीरज कुमार का कहना है कि, ‘ऐसा देश का पहला मामला है जिसमें एक साथ दो सगी बहनों ने एक ही साल में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा पास की हो।

यह गौरव मेरी बेटियों को हासिल हुआ है जिसके चलते मैं बहुत खुश हूं और गर्व महसूस कर रहा हूं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, सिमरन व सृष्टि का एक छोटा भाई भी है जिसका नाम अभिनव है अभिनव खेलों में रुचि रखता है। वही सृष्टि और सिमरन की मां घर संभालती है।

नीरज कुमार के मुताबिक, वे मूल रूप से आगरा जिले के फतेहाबाद तहसील के कोलारा गांव के रहने वाले हैं। इनका पूरा परिवार काफी लंबे समय से दिल्ली में रह रहा है। यहीं से दोनों बहन यूपीएससी की तैयारी कर रही थी। खबरों की माने तो सृष्टि ने पहली बार में ही इस परीक्षा में सफलता हासिल की जबकि सिमरन ने दूसरे प्रयास में परीक्षा पास की।

अब बात करते हैं राजस्थान के झुंझुनू शहर के दो सगे भाइयों के बारे में। इन दोनों भाइयों का नाम अमित कुमावत व पंकज कुमावत है। बता दें, यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा साल 2020 में पंकज कुमावत ने 424 वी रैंक प्राप्त की थी जबकि उनके भाई अमित कुमावत ने 423वी रैंक हासिल कर अपने गांव का नाम रोशन किया।

खबरों की माने तो इन दोनों के माता-पिता कपड़े सिलने का काम करते हैं। बता दें, वर्तमान में अमित कुमावत को यूपी कैडर मिला है तो वहीं पंकज कुमावत को महाराष्ट्र कैडर प्राप्त हुआ है।

22 दिसंबर 1992 को झुंझुनू शहर में जन्मे महाराष्ट्र कैडर के आईपीएस अधिकारी पंकज कुमावत की शादी इसी साल जोधपुर निवासी एलएलएम डिग्रीधारक लांची प्रजापत के साथ हुई है। बता दें, पंकज कुमावत ने अपनी शुरुआती पढ़ाई भी झुंझुनू से ही की है।

अब आखिर में बात करते हैं राजस्थान के दौसा जिले के सिकराय उपखंड गांव खेड़ी रामला की दो बेटियों के बारे में। मीणा परिवार की इन दो बेटियों का नाम अंजली मीणा और अनामिका मीणा है, दोनों ही सगी बहने हैं। इन दोनों बहनों ने एक साथ यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अंजलि मीणा और अनिका मीणा तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी रमेश चंद्र की बेटियां है।

अनामिका ने यूपीएससी 2019 की सिविल सेवा परीक्षा में 116वीं रैंक हासिल की बल्कि अंजलि ने 494वीं रैंक हासिल की। खबरों के मुताबिक, अंजलि और अनामिका बचपन से ही अपने पिता के साथ चेन्नई में रहती थी और चेन्नई में रहकर ही इन दोनों बहनों ने एक साथ परीक्षा की तैयारी की और सफलता हासिल की। अब दोनों बहने पहली बार अपने गांव आई है जिसके चलते उनके परिवार वालों और गांव वालों ने उनका भव्य रुप से स्वागत किया है।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!